Nirbhaya Case: फांसी का दिन करीब! फांसी से पहले तिहाड़ जेल में विशेष सतर्कता, प्रशासन ने पूछी अंतिम इच्छा

0
6
Nirbhaya Case 2012
Nirbhaya Case 2012

नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप (Nirabhaya Gang Rape Case) के चारों दोषियों को एक फरवरी ( 1 february) को दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी की सजा दी जाएगी। तिहाड़ जेल में बंद निर्भया केस चारो आरोपियों पर प्रशासन विशेष निगरानी बरत रहा है। जेल अधिकारी के मुताबिक चारों दोषियों को ‘सुसाइड वॉच’ (विशेष निगरानी) में रखा गया है।

निर्भया केस चारो आरोपियों को एक ही सेल में अलग-अलग 48 वर्गफीट की कोठरी में रखा गया है। वहीं आरोपियों पर विशेष निगरानी रखते हुए प्रशासन ने सभी की कोठरी के बाहर एक गार्ड को तैनात किया गया है। वहीं, निर्भया गैंगरेप के दो दोषियों पवन और अक्षय की एक याचिका पर शनिवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई हुई, इस दौरान तिहाड़ जेल प्रशासन ने कोर्ट में कहा- निर्भया के दोषियों से जुड़े कोई दस्तावेज नहीं।

Nirbhaya case: निर्भया के दोषियों से तिहाड़ जेल प्रशासन ने पूछी आखिरी इच्छा ?

आपको बता दें कि तिहाड़ जेल में बंद निर्भया केस (Nirbhaya Case 2012) के चारों गुनहगारों को एक फरवरी को फांसी दी जाएगी। इस दौरान तिहाड़ जेल प्रशासन ने नोटिस थमाकर उनसे आखिरी इच्छा के बारे में पूछा है। निर्भया केस के आरोपियों से जेल प्रशासन ने कई सवाल भी पूछे हैं। दरअसल जेल मैन्युअल के मुताबिक, सजा पाए जाने आने कैदियों से फांसी देने से पहले उनकी अंतिम इच्छा के बारे में पूछा जाता है और उनकी इच्छा को पूरा कराया जाता है।

Nirbhaya case: दोषियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज सतीश अरोड़ा का ट्रांसफर

बता दें कि 16 दिसंबर, 2012 को दिल्ली के वसंत विहार में चलती बस में 23 वर्षीय निर्भया के साथ बेरहमी के साथ दुष्कर्म किया गया था, जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here